in , , , , , ,

बिलासपुर : मैंहरी काथला पंचायत के खसरी गांव के राजेश कुमार शर्मा का बीमारी के चलते निधन, कुठेड़ा स्कूल के प्रधानाचार्य थे

बिलासपुर।

विनोद चड्ढा की रिपोर्ट

जिला बिलासपुर में घुमारवीं उपमंडल के अंतर्गत मैहरीं काथला पंचायत के खसरी गांव के राजेश कुमार शर्मा (56) का पिछले लगभग एक महीने से बीमार रहने के उपरांत गुरूवार को स्वर्गवास हो गया।

आपको बता दें कि कुठेड़ा स्कूल में प्रधानाचार्य के पद पर कार्यरत थे।

आपको बता दे कि लगभग करीब 8 सालो से कुठेड़ा स्कूल में अपनी सेवा दे रहे थे काफी अनुभवी प्रधानाचार्य के रूप में जाने जाते थे। बीच मे कई प्रधानाचार्य आये और गये मगर उन्होंने काफी लंबे समय कुठेड़ा स्कूल में अपना समय ब्यतीत किया है बहुत ही दयालु ओर हँसमुख स्भाव के थे।

कभी किसी से किसी प्रकार का मनमुटाव नही करते थे ।अपने स्टाफ को हमेसा ही अच्छे कार्यो के लिए पोत्साहित करते रहते थे।और अपनी ड्यूटी के इतने वफादार प्रधानाचार्य की अगर रात को भी कही स्कूल से कोई छोड़ी सी कॉल चौकीदार या किसी अन्य की चली जाए तो स्कूल पहुंच कर समस्या का हल निकालने में जुट जाते ।

स्कूल को हमेशा बुलन्दियों पर पहुंचने का हमेशा ही प्रयत्न करते रहते।उन्होंने अपने समय मे कुठेड़ा स्कूल को चार चांद लगाने की भरपूर कोशिश की है खेलकूद की बात करे या बच्चो के गुणात्मक शिक्षा की उन्होंने हर क्षेत्र में अपना बहुमूल्य समय स्कूल को हमेशा दिया है।

स्कूल में प्रधानाचार्य रहते उन्होंने कुठेड़ा स्कूल में स्किल इंडिया के तहत दो मंजलिया बिल्डिंग का निर्माण, महिला स्टाफ रूप की मुरमत ओर उसको छत ढलवाने का कार्य बैडमैनटन कोर्ड, बास्कीटबॉल के मैदान का निर्माण ,उसको चारदीबारी लगाने का काम बॉलीबॉल,और कब्बडी ओर बच्चो के बैठने के लिए एक अच्छे स्टेडियम का निर्माण अपने कार्यकाल में प्रमुखता से करवाया है।

इतना ही नही उन्होंने राजकीय बरिष्ठ माद्यमिक स्कूल को मुख्यमन्त्री स्कूल का दर्जा भी राजेश शर्मा प्रधानाचार्य ने दिलाया जिसके लिए समस्त समस्त इलाकावासी उनके सदैव आभारी रहेंगे।

कुठेड़ा स्कूल में हिंदी मध्य से पढ़ाई होती थी मगर उनकी दूरदर्शी सोच ने बच्चो की गुणबत्ता को निखारने के लिये इंगलिस मीडियम कुठेड़ा स्कूल में सुरु किया इसका आज बच्चे पूरा फायदा ले रहे है। खेल कूद में उन्होंने कुठेड़ा स्कूल को दूसरे स्कूलों से काफी टॉप पर रखा हुआ है । उनके होते हुए कुठेड़ा स्कूल के बच्चो ने खेलकूद में अपने जौहर दिखते हुए कई खेलो में उनके स्कूल बच्चो ने राज्यस्तरीय ओर अंतरास्ट्रीय स्तर पर अपनी अलग पहचान बनाई है।

आज कुठेड़ा स्कूल जिला में ही नही बल्कि हिमाचल प्रदेश में अपनी एक अलग पहचान बना चुका है जिसका श्रेय स्कूल प्रधानचार्य राजेश शर्मा को जाता है । स्कूल स्टाफ ओर समस्त इलाका वासियो को राजेश शर्मा हमेशा ही याद रहेंगे ।
कुठेड़ा स्कूल हमेशा ही उनके कामो से जाना जाएगा।

दुख हो रहा है कि ऐसे मिलनसार व्यक्ति हमें छोड़ कर चले गये जिनकी समस्त इलाके को कमी जरूर खलेगी । कुठेड़ा स्कूल को मॉडल स्कूल बनाने का श्रेय हमारे प्रधानचार्य राजेश शर्मा को जाता है। उनकी हमेशा ही कमी खलेगी । बेहद शानदार व्यक्तित्व व हंसी मजाक वाले इंसान थे।

आप इस बारे में क्या विचार हैं? अपनी राय देने के लिए यहाँ क्लिक करे

प्रातिक्रिया दे

कुल्लू : बिजली महादेव की पहाड़ी से नीचे बिजली गिरी, सोशल मीडिया पर फोटो वायरल

क्रिकेट : श्रीलंका दौरे पर वनडे व टी-20 सीरीज के लिए टीम इंडिया का ऐलान, धवन होंगे कप्तान