in , , , , , , ,

बिलासपुर : शगुन योजना के तहत विधायक जीत राम कटवाल ने 10 लाभार्थियों को 3 लाख 10 हजार रुपये किए वितरित

बिलासपुर।

प्रदेश सरकार द्वारा बीपीएल परिवार की लड़कियों को विवाह अनुदान के लिए शगुन योजना आरंम्भ की गई है। बाल विकास परियोजना कार्यालय झंडूता ने शगुन योजना के अंतर्गत झंडूता विधानसभा क्षेत्र विधायक जीत राम कटवाल ने 10 लाभार्थियों को 3 लाख 10 हजार रुपये (प्रति व्यक्ति 31 हजार रुपये) की राशि वितरित की।

उन्होंने बताया कि महिलाओं को सशक्त करने के लिए केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा अनेकों कल्याणकारी योजनाएं क्रियान्वित की जा रही हैं ताकि उन्हें सुरक्षा, वित्तीय सहायता और सम्मानजनक जीवन जीने के अवसर मिल सकें। उन्होंने बताया कि शगुन योजना के अन्तर्गत बीपीएल परिवारों को लड़की की शादी के लिए 31 हजार रुपये की वित्तीय सहायता सरकार द्वारा प्रदान की जाती है।

शगुन योजना का मुख्य उद्देश्य ऐसे माता-पिता, संरक्षक अथवा स्वयं लड़की यदि उसके माता-पिता जीवित नहीं है व लापता है, उन लड़कियों की शादी के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करना है, जो कि बीपीएल परिवार से संबंधित हैं तथा जिसकी आयु 18 वर्ष से अधिक है और लड़की हिमाचल प्रदेश की स्थाई निवासी हो।

प्रदेश सरकार द्वारा कन्याओं के सम्मान तथा सशक्तिकरण के प्रति कृत संकल्प है। इसलिए 31 हजार रूपये की राशि सीधे लाभर्थियों के बैंक खाता में ‘शगुन योजना’ के अन्तर्गत भेजी जा रही है ताकि गरीब परिवार इस राशि से विवाह के शुभ कार्य को सुचारू रूप में सम्पन्न कर पाऐं।

सरकार द्वारा इस प्रकार की सामाजिक सरोकार की योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्तियों को दिया जा रहा है। उन्होंने लोगों से इस योजना का अधिक से अधिक लाभ लेने का आग्रह किया।

इस अवसर पर बाल विकास परियोजना अधिकारी नरेंद्र कुमार ने बताया कि शगुन योजना पहली अप्रैल 2021 से लागू हो चुकी है। योजना के तहत गरीबी की रेखा से नीचे के परिवारों की लड़कियों के लिए विवाह के दौरान 31 हजार रुपये का सहायता अनुदान प्रदान किया जाता है। एक अप्रैल 2021 व उसके बाद जिन बीपीएल परिवार की बेटियों की शादी हुई है उनका आवेदन निर्धारित प्रपत्र व अनुलगनकों के साथ अधोहस्ताक्षरी कार्यालय में जम्मा करवाये ताकि समय पर अनुदान हेतु कार्यवाही अमल में लाई जा सके।

प्रस्तावित शादी की तारीख से दो महीने पहले राशि का भुगतान किया जा सकता है। यदि विवाह पहले ही हो चुका है, तो विवाह के छह महीने के भीतर भी आवेदक अनुदान राशि के लिए आवेदन कर सकते है। अनुदान राशि संबंधित आवेदक के बैंक खाते में स्थानांतरित की जाएगी। खण्ड परियोजना झंडूता के सचिवों तथा प्रधानों को शगुन योजना बारे प्रचार प्रसार किया गया है ताकि पात्र लोगों को इस योजना का लाभ मिल सके।

इस अवसर पर पंचायत समिति उपाध्यक्ष शेर सिंह, कार्यालय सचिव हरबंश भभोरिया, ग्राम पंचायत प्रधान सुख देव उपस्थित रहे।

आप इस बारे में क्या विचार हैं? अपनी राय देने के लिए यहाँ क्लिक करे

प्रातिक्रिया दे

हिमाचल कैबिनेट बैठक का फैसला – इन कक्षाओं के लिए अगले महीने से खुलेंगे स्कूल

कांगड़ा : सिविल अस्पताल गरली में भवनों की नीलामी प्रक्रिया 30 जुलाई को होगी