in , , , , , ,

मंडी : महिला डाक कर्मी के घर से चिट्ठियां मिलने का सिलसिला खत्म नहीं हो रहा, फिर से मिली चिट्ठियों की 10 बोरियां

मंडी।

जिला मंडी में पति को आत्महत्या के लिए मजबूर करने वाली हवालात में बंद महिला डाक कर्मी के घर से चिट्ठियां मिलने का सिलसिला अभी खत्म नहीं हो रहा है। पहले महिला डाक कर्मी के घर से एक ट्रंक से चिट्ठियों की 3 बोरियां मिली थीं और मंगलवार को परिजनों ने जब महिला डाक कर्मी के कमरे को खोला तो 2 बैड बॉक्सों में 10 बोरियां चिट्ठियों की मिलीं, जिसकी सूचना परिजनों ने डाक विभाग को दी।

डाक विभाग के कर्मी भी मौके पर पहुंच गए और पूरी डाक को कब्जे में ले लिया। अब डाक विभाग को फिर कसरत करनी पड़ेगी। बोरियों में एटीएम, पंजीकृत पत्र, स्पीड पोस्ट, इंटरव्यू कॉल लैटर, बीमा पॉलिसी व स्कूली बच्चों के प्रमाण पत्र शामिल हैं।

आपको बता दें कि पहले मिली 3 बोरियों की चिट्ठियों को बांटने के लिए विभाग ने 5 सदस्यीय टीम गठित की थी और 5 दिनों में डाक बांट दी गई थी लेकिन अब 10 बोरियों में भरी हुई हजारों चिट्ठियों को बांटने में 50 दिन लग सकते हैं। महिला डाक कर्मी की इस गलती का खमियाजा जहां विभाग भुगत रहा है वहीं डाक धारकों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा है।  

डाक विभाग के निरीक्षक आशीष कुमार ने बताया कि अब महिला डाक कर्मी के घर से डाक की 10 बोरियां बरामद हुई हैं, जिन्हें डाक धारकों को बांट दिया जाएगा। महिला डाक कर्मी को सस्पैंड कर दिया गया है और चार्जशीट किया जाएगा।

आप इस बारे में क्या विचार हैं? अपनी राय देने के लिए यहाँ क्लिक करे

प्रातिक्रिया दे

बिलासपुर : जवाहर नवोदय विद्यालय कोठीपुरा की स्कूल प्रबंधन समिति की बैठक आयोजित