in , , , , , , ,

बिलासपुर : विधायक सुभाष ठाकुर ने जंगल ओयल में लुकाठ पौधा लगाकर उपमंडल स्तरीय वन महोत्सव का किया शुभारंभ 

बिलासपुर।

विधायक सदर सुभाष ठाकुर द्वारा उपमण्डल स्तरीय वन महोत्सव का शुभारम्भ जंगल ओयल में लुकाठ का फलदार पौधा लगाकर किया गया। उन्होंने बताया कि वन महोत्सव के दौरान वन विभाग द्वारा 10 हैक्टेयर भूमि पर लगभग 4 हजार से अधिक पौधे लगाए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि पौधा रोपण में फलदार व औषधीय पौधों का रोपण किया जा रहा है। उन्होंने वन विभाग का धन्यवाद करते हुए कहा कि आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण दिन है क्योंकि चंद्र शेखर आज़ाद और लोकमान्य तिलक जी की जयंती है।

उन्होंने बताया कि पूरे प्रदेश व जिले में वृक्षारोपण किया जा रहा है ताकि अधिक से अधिक क्षेत्र को हरितपट्टी में बदला जा सके। उन्होंने उपस्थित सभी पार्टी के पदाधिकारियों और पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों से अधिक से अधिक पेड़ लगाने का आहवान किया।

उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश अपने शांतिप्रिय वातावरण व शुद्ध आवो-हवा के लिए प्रसिद्ध है। हिमाचल प्रदेश में पूरे विश्व से पर्यटक इस शुद्ध व सुरक्षित वातावरण का आनंद लेने के लिए यहां आते है। कोरोना काल से अभी हाल जब थोडी सही राहत मिली तब हजारों की संख्या में पर्यटक देवभूमि में शुद्ध हवा व वातावरण का आंनद लेने के लिए पहुँचे।

हिमाचल प्रदेश के वन उत्तरी भारत के लिए फेफड़ों का काम करते है और इन वनों के संरक्षण और वनों में पेड़ों की संख्या को बढ़ाने, वनो को सुरक्षित रखने के लिए वन विभाग निरंतर पूरी निष्ठा व इमानदारी से सराहनीय व महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

उन्होंने कहा कि हमारे पूर्वज पेड़ों की पूजा करते थे क्योंकि उन्हें प्रकृति से बेहद प्यार था और वे जानते थे कि पेड़ नहीं होंगे तो जीवन जीना कठिन हो जाएगा। उन्होंने कहा कि हम लोगों को अपने पूर्वजों से प्रेरणा लेकर सभी को अपने जीवन में वृक्षा रोपण एक अहम हिस्सा बनाना चाहिए और प्रति वर्ष वृक्षारोपण करना चाहिए। उन्होंने लोगों से आहवान किया कि वृक्षा रोपण में फलदार, औषधीय पौधों के साथ-साथ पीपल और वट वृक्ष को भी लगाएं क्योंकि पीपल के पेड़ रात-दिन आॅक्सीजन देते है।

उन्होंने जंगलों को आगजनी से बचाने के लिए स्थानीय लोगों से आग्रह किया कि अपने थोड़े से लाभ के लिए बहुमूल्य वन सम्पदा को नष्ट न होने दें क्योंकि मनुष्य खाने के बिना तो कुछ दिन रह सकता है परंतु सांसों के बिना जीवित नहीं रह सकते। कोरोना काल में आॅक्सीजन कमी से सीख लेते हुए वनों को बचाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएं।

उन्होंने वनों को आगजनी से बचाने के लिए विभाग से जंगल में फायर लाईन बनाने को कहा तथा इस सन्दर्भ में लोगों से सुझाव मांगे।

कार्यक्रम में जिला परिषद अध्यक्ष कुमारी मुस्कान, नगर परिषद अध्यक्ष कमलेन्द्र कश्यप, उपाध्यक्ष कमल गौतम, प्रधान बंदला पंचायत शतीष, भाजपा जिला महामंत्री आशीश ढिल्लों, डीएफओ बिलासपुर अश्वनी राय भूषण, नीना पंथ, एसीएफ प्रदीप कुमार सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

आप इस बारे में क्या विचार हैं? अपनी राय देने के लिए यहाँ क्लिक करे

प्रातिक्रिया दे

प्रदेश में 25 जुलाई को होने वाली सेना भर्ती की लिखित परीक्षा हुई रद्द्